जय शहीद

सागर संजय बारटक्के, सातारा
Saturday, 26 January 2019

मैं जो कहता वो तो सुनके मन भी जवान के लिए रोता है
जिस्म यहाँ पर होकर भी दिल तो सीमा पे धड़कता है।
देशसेवक के कुटुंबियों को सरकार दस लाख में खरीदता है
हम मनाए ईद-दीवाली घर उसका तो मातम मनाता है ।।१।।

सुहागरात की सेज छोड़कर सुख को मिट्टीमें गाड़ा है
पूछो दुःख उस दुल्हन को गीली मेहंदी से मंगलसूत्र को तोड़ा है।
न कुमकुम न बिंदिया और बिखरे बाल जिसने न सवारे है
आँखे भरी थी उनको देखे पती लाश स्वरूप में पधारे है ।।२।।

मैं जो कहता वो तो सुनके मन भी जवान के लिए रोता है
जिस्म यहाँ पर होकर भी दिल तो सीमा पे धड़कता है।
देशसेवक के कुटुंबियों को सरकार दस लाख में खरीदता है
हम मनाए ईद-दीवाली घर उसका तो मातम मनाता है ।।१।।

सुहागरात की सेज छोड़कर सुख को मिट्टीमें गाड़ा है
पूछो दुःख उस दुल्हन को गीली मेहंदी से मंगलसूत्र को तोड़ा है।
न कुमकुम न बिंदिया और बिखरे बाल जिसने न सवारे है
आँखे भरी थी उनको देखे पती लाश स्वरूप में पधारे है ।।२।।

परबत की कठिनाइयां चढ़के खून तो शोले-सा बनाया है
पूछो उस माँ को जिसने जवान बेटे को हँसते हँसते खोया है।
तू कहता था देशसेवा के आगे कोई भी रिश्ता झूठा है
रो रही हूं अभी भी भैया मेरी राखी से तू क्यों रूठा है।।३।।

खुशियां डूबाके पानी में हमेशा वतन के लिए आंखे मूंदे सजग है
मिट्टी के लिए जीना-मरना फौजी तेरा ये नारा अजब है।
पहचान अपनी देश के लिए न हो तो ये कैसा मरना-जीना है
फौजी बनकर मरते समय भी तिरंगे में लपेटकर सम्मान से हमे जाना है ।।४।।

कहता मै भी इस वजह से ख्वाब भले ही तुम सौ रखना
फौजी बनकर देश के लिए तुम इंसानियत को न भूलना।
भारतमाता की शान के लिए हम जान भी समर्पित करते है
शायद इसी लिए तो दुनिया "जय हिंद" के साथ "जय शहीद" हमें कहते है ।।५।।

Become YINBuzz contributor. Write your stories, publish your photos and videos using Sakal Samvad App (*YINBuzz.com हा तरूणाईसाठीचा खुला डिजिटल फोरम आहे. इथे प्रसिद्ध झालेल्या मतांशी वेबसाईटचे व्यवस्थापन सहमत असेलच; असे नाही.)

Download Samvad App

Related News